जानिए कैसे बनाये वायरस


जानिए कैसे बनाये वायरस

दोस्तों आज हम आपके लिए लेकर आये है बहुत ही रूचिबद्ध टॉपिक। चलिए आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि वायरस कैसे बनाये। चलिए शुरू करते है और पहले कुछ बाते वायरस के बारे में जानते है।

वायरस क्या होता है:
वायरस का पूरा नाम होता है घेराबंदी के अंतर्गत महत्वपूर्ण जानकारी संसाधन। वायरस एक नुकसान पहुचने वाला सॉफ्टवेयर होता है जो अपने डुप्लिकेट की सहायता से कंप्यूटर के दूसरे प्रोग्राम को डैमेज करता है, आप वीटुस को ऐसे भी परिभाषित कर सकते है की वायरस एक कोड का प्रोग्राम है जो आपके इजाजत के बिना आपके कंप्यूटर में प्रवेश करता है और कंप्यूटर के दूसरे प्रोग्राम को डैमेज करता है। 1980s के दसक में कंप्यूटर वायरस प्रचलित होने लगे, और मेन कारण थे निजी कंप्यूटर का चलन में आना, 1980s से पहले असली कंप्यूटर का इस्तेमाल सिर्फ विशेषज्ञों तक सिमित था लेकिन 1980 के बाद से कंप्यूटर का इस्तेमाल कॉलेज, कारोबार और घरो में होने लगा और इस तरह से कंप्यूटर वायरस प्रचिलित हुआ। 1987 ने विजरूस ने ARPANET जो की एक बड़ा नेटवर्क है जिससे रक्षा विभाग इस्तेमाल करती थी उसे संक्रमित कर दिया था। और इस घटना एक बार वायरस एक डैमेज से बचने के लिए अलग अलग एंटीवायरस बनाये गए।


नकली वायरस कैसे बनाये:
नकली वायरस बनाना कोई मुश्किल काम नहीं है, और जैसा की इसका नाम है ये वायरस आपके कंप्यूटर को हरम नहीं करेंगे। आप इस वायरस को अपने दोस्त के साथ फन के लिए बना सकते है। तो मेक नकली वायरस आपको बस नोटपैड की जरुरत पड़ेगी। निचे दिए गए चरणों का आपको बस पालन करना है।
चरण 1 ->> आपको यहाँ नोटपैड खोलना है, और निचे दिए गए कोड को अपने नोटपैड में कॉपी करना है।
चरण 2 ->> अब आपको इस कोड को सेव करना है और फाइल को नाम देना है। सेव करते समय ये ध्यान दे कि आपको विस्तार को Txt se. Cmd or. Bat  में चेंज करना है। उदाहरण (filename. Cmd or. bat) और सेव अस टाइप को (*. Txt) से सभी फाइल में सेव करना है।

चरण 3 ->> तीसरे चरण में आपको नया नकली इंकोन बनाना है। उसके लिए पहले आपको अपने डेस्कटॉप में दाएँ क्लिक कर के नए में क्लिक करे और शॉर्टकट के विकल्प को चुने। जब आप शॉर्टकट पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने नया पेज खुलेगा जिसमे आपको "ब्राउज़र" पर क्लिक करना है और अपने जो नोटपैड virus बनाया है उसे चुन कर के NEXT पर क्लिक कर देना है।

चरण 4 ->> इस चरण में आपको अपने नए नकली आइकॉन को कोई नाम देना है जिससे अपना शिकार उस आइकॉन पर क्लिक करे। उदाहरण के लिए निःशुल्क गेम्स।

चरण 5 ->> इस आखरी चरण में आपको अपने बनाये हुए शॉर्टकट फाइल के properties पर क्लिक करना है और चेंज आइकॉन पर क्लिक करके कोई अच्छा सा आकर्षक आइकन चुन ले और "OK" ट्वाइस बटन दबाये।


त्रुटि संदेश वायरस कैसे बनाये:
त्रुटि संदेश  वायरस, इस वायरस को भी हम नोटपैड की सहायता से बनाएंगे। त्रुटि संदेश वायरस मतलब जब आप इस एप्लीकेशन को खोलेंगे तब आपको एक त्रुटि संदेश दिखाई देगा। आपको बस निचे दिए गए चरणों का पालन करना है।

चरण 1 ->> पहले चरण में नोटपैड खोले और निचे दिए कोड्स को नोटपैड में कॉपी करे।
चरण 2 ->> इस फाइल को सेव कर दे और सेव करते समय फाइल नाम के साथ Vbs ज़रूर लगा दे। उदाहरण त्रुटि. Vbs
इस तरह से आप एक त्रुटि संदेश वाला वायरस बना के अपने दोस्तों के साथ मस्ती कर सकते है।

हास्यास्पद शरारत वायरस कैसे बनाये:
मजेदार शरारत वायरस बनाने के लिए आपको इसमें भी नोटपैड की जरुरत पड़ेगी, तो देखते है की किस तरह से इस वायरस को बनाया जाये।

चरण 1 ->> ओपन नोटपैड स्टार्ट -> सारे प्रोग्राम्स -> एक्सेसरीज -> नोटपैड।
चरण 2 ->> (निचे दिए गए कोड को समान कॉपी करे)
चरण 3 ->> आखरी चरण में आपको इस कोड को सेव करना है लेकिन इसका फाइल नाम होगा वायरस। लेकिन, उस नाम के बाद बैट जोड़ना याद रखें जो आपने तय किया है।

असली वायरस के लिए कुछ टिप्स:
कैसे कंप्यूटर वायरस फैलाये?
21st सदी में लोग एक दूसरे से जुड़ने के लिए नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहे है, और इंटरनेट वायरस के ट्रेवल करने का सब से अच्छा मीडियन है। इंटरनेट से डाउनलोड कोई फाइल या किसी सकाम लिंक पर क्लिक करने से भी आपके PC में वायरस सकता है। इंटरनेट एक किसी अनजान लिंक पर किसी अनजान ईमेल को ना खोले, इस तरह आप अपने कंप्यूटर या दूसरे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को सेफ रख सकते है।

कैसे वायरस के हमले से कंप्यूटर को रोके:
इंटरनेट का उपयोग हम सब करते है लेकिन इंटरनेट का निरंतर उपयोग से कंप्यूटर में वायरस का रिस्क बढ़ जाता है जिससे आपके कंप्यूटर के प्रोग्राम या डाटा डैमेज होते है। कंप्यूटर को वायरस के रिस्क से बचाने के लिए आपको हमेशा कुछ बातो का ध्यान रखना पड़ेगा चलिए जानते है किसी तरह से हम अपने कंप्यूटर को वायरस से सेव कर सकते है।

अज्ञात स्रोत पर क्लिक करने से बचें:
इंटरनेट पर हज़ारो विज्ञापन और बैनर बनाये जाते है सिर्फ आपके ध्यान को पाने के लिए और हम उन विज्ञापन या लिंक पर बिना कुछ जाने क्लिक कर देते है। कभी कभी तो ये लिंक्स आपके लिए नुकशान दायक होते है। आपको उन बेकार लिंक्स पर क्लिक नहीं करना है, ये लिंक के दवारा भी अपने कंप्यूटर में वायरस आता है।

अज्ञात पते से ईमेल नहीं खोलें:
ईमेल वायरस एक कंप्यूटर कोड होता है जिससे आपको ईमेल को खोला तो ये आपके कंप्यूटर के प्रोग्राम को हरम करता है। इसलिए हमेशा ध्यान में रखे की आपको अज्ञात स्रोत से आये ईमेल को नहीं खोलना है।


ऑन फ़ायरवॉल:
फ़ायरवॉल एक नेटवर्क सिक्योरिटी सिस्टम है जो सभी अनाधिकृत उपयोग को मॉनिटर करता है। फ़ायरवॉल मूल रूप से एक बैरियर बना देता है विश्वसनीय आंतरिक और अनधिकृत बाहरी नेटवर्क के बीच अपने कंप्यूटर में फ़ायरवॉल ऑन करने के लिए पहले कण्ट्रोल पैनल में जाये। अगले चरण में आपको सर्च बॉक्स में फ़ायरवॉल टाइप करना है और तब आपको विंडोज फ़ायरवॉल में क्लिक करना है और तब आपके सामने नया पेज खोलेगा उससे आप फ़ायरवॉल को ऑन/ऑफ कर पाएंगे।


एंटीवायरस इस्तेमाल करे:
कंप्यूटर वायरस से सुरक्षा के लिए एंटीवायरस बनाये गए है, आप हमेशा अपने कंप्यूटर में एंटीवायरस का उपयोग करे। एंटीवायरस होने से आपका कंप्यूटर वायरस के संक्रमित नहीं होगा। अगर आप अपने दैनिक जीवन में इंटरनेट का बहुत ज्यादा उपयोग करते है तो आप इंटरनेट सिक्योरिटी वाले एंटीवायरस का इस्तेमाल करे, इससे आप इंटरनेट से आने वाले वायरस को अपने कंप्यूटर से दूर रख पाएंगे।


कंप्यूटर में डालने से पहले पेनड्राइव स्कैन करें:
हमेशा पेनड्राइव को अपने PC में इन्सर्ट करने से पहले स्कैन कर ले क्योकि वायरस पेनड्राइव के द्वारा भी आते है। हम अपने दोस्तों के पास या और किसी के पास से लाया हुआ पेनड्राइव बिना स्कैन किये हुए अपने pc में इन्सर्ट कर देते है और हमारे कंप्यूटर में वायरस जाते है, हमें संक्रमित पैंड्राइव से बचने की ज़रूरत है।

विश्वसनीय साइट्स से फ़ाइल डाउनलोड करें:
आप जब इंटरनेट से फाइल डाउनलोड करते है तब ये ध्यान में रखे की आप हमेशा विश्वसनीय साइट्स से ही अपने फाइल डाउनलोड करे। अनधिकृत साइटें से कुछ डाउनलोड करने से आपके कंप्यूटर में वायरस सकते है, इसलिए हमएशा ध्यान रखे की आपको बस विश्वसनीय साइट्स से ही फाइल डाउनलोड करना है।


आपकी फाइलों का बैक अप लें:
हमेशा आप अपनी फाइल का बैकअप बना कर रखे, अगर वायरस कंप्यूटर के फाइल को प्रभावित भी करता है तो एटलीस्ट आपके पास अपने फाइल का बैकअप होगा, इसलिए अपने फीडले का हमेशा बैकअप बना के रखे।

Take a Look on Below Table

Government Jobs Private Jobs
Engineering Jobs 10th / 12th Pass Jobs
Employment News Rojgar Samachar
Railway Jobs in India Upcoming Sarkari Naukri
Upcoming Bank Jobs Graduate Degree Jobs
Written Exam Preparation Tips Career Management Tips
English Improvement Tips Interview Preparation Tips

0 comments:

Post a Comment