जानिये कैसे Personality Develop करे (अहम् बातें)


जानिये कैसे Personality Develop करे

पर्सनालिटी डेवलपमेंट का अर्थ है अपने व्यक्तित्व का विकास। पर्सनालिटी डेवलपमेंट में केवल आपका बोलने का तरीका, या कपडे डालने का तरीका
ही नहीं आता बल्कि इसके अलावा बहुत सी बातें है जो आपके व्यक्तित्व को दर्शाती है। आज के आधुनिक युग में अपने व्यक्तित्व पर ध्यान देना उसे निखारना बहुत जरूरी है क्योंकि लोग केवल आपके कपड़े या आपके स्टेचू को नहीं बल्कि आप में क्या गुन है क्या सोच है इन सभी बातों पर ध्यान देते हैं। हमने इस टॉपिक में कुछ टिप्स दिए हैं जिनको अगर आप अपनाएंगे तो ज़रूर अपने व्यक्तित्व को निखार सकेंगे। हम पुरे दिन में बहुत से लोगो से मिलते है परन्तु कुछ लोग हमे प्रभावित कर जाते है तो ऐसे लोगो को हम the person has got a pleasant personality कहते है। ऐसी पर्सनालिटी वाले लोग हमेशा खुश रहते है और उनका अच्छे से सम्मान होता है। अच्छी पर्सनालिटी वाले लोगो को ज्यादा पसंद किया जाता है। आओ हम जाने की किस तरह हम भी अपनी पर्सनालिटी को कैसे डेवलॅप कर सकते है। पर्सनालिटी डेवलॅप के कुछ तरीके है जो आपको अट्रैक्टिव पर्सनालिटी पाने में आपकी मदद करेंगे।
Personality Develop

पर्सनालिटी Development टिप्स

आपका बाहरीय रूप: आप जब भी किसी व्यक्ति से पहली बार मिलते हैं तो आपका सबसे पहला ध्यान उसके कपड़ो और जूतो पर जाता है की उसने किस प्रकार के कपडे या जूते पहने हैं। तो पर्सनालिटी को develop करने का पहला नियम है की जगह और अवसर देखकर कपडे पहने। अगर आप पार्टी में जा रहे हैं तो आप हैवी सूट डाल सकते हैं। पर अगर आप बिज़नेस मीटिंग के लिए जा रहे हैं तो फॉर्मल सूट पहने और फॉर्मल शूज पहने।

Latest Recruitment in India
आपका बात करने का तरीका: आपका बात करने का तरीका भी आपके व्यक्तित्व को दर्शाता है तो हमेशा मौका देख कर और किस से बात कर रहे हैं उसको ध्यान में रखते हुए बात करें। हमेशा रेस्पेक्ट से बात करें।

Read Also: 10 अच्छी आदतें जो बिल्कुल बदल सकती है आपकी ज़िन्दगी

लोगों को Genuinely पसंद करिए: जब किसी से मिलते है तो हमारे अंदर उनके प्रति विचार अच्छे होने चाहिए। जब हम किसी व्यक्ति से मिलते है तो हमारे अंदर उनकी एक पहले से छवि बना लेते है वो छवि सकारात्मक, नकारात्मक या तटस्थ हो सकती है, परन्तु यदि यह बात जाये व्यक्तित्व सुधार की तो हमे एक अंतरराष्ट्रीय छवि मन में लोगो के लिए बनानी होगी, वो भी हमेशा सकारात्मक छवि। सकारात्मक इमेज तब बन पायेगी जब हम उस व्यक्ति की बुराइया देखकर उसकी अच्छाइयाँ देखेंगे। तब हम किसकी सकारात्मक छवि दिमाग में बनाएंगे।

ड्रेसिंग सेंस: आपका ड्रेसिंग अर्थ ठीक होना चाहिए क्योंकि ड्रेसिंग हमारे आत्मविश्वास में वृद्धि का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है, जब हम पार्टी, ऑफिस आदि जैसे विशेष अवसरों पर जाने पर हमारे ड्रेस का चयन करते हैं।

मुसकुराहट के साथ मिलिए: जब आप अपने रिस्तेदार या किसी दोस्त से मिलते है तो आपके चेहरे पर हल्की सी मुस्कराहट जाती है, तो उस मुस्कराहट की आदत आपको सबसे मिलने पर लानी होगी। इस तरह लोग आपसे खुश होंगे और आपको लाइक करेंगे। आपका लोगो से मसुकराहट के साथ मिलने पर सामने वाले का जवाब  में same स्माइल  मिलेगी। यदि हम अपने आपको खुशनुमा बना लेते है तो हमारे internal mood पर भी अच्छा असर पहुँचता है और हमारा internal mood भी अच्छा हो जाता है।


नाम रहे ध्यान: हम जिससे भी मिले हमे उसका सही नाम अवश्य याद रखना चाहिए। नाम याद रखने के लिए जब हम उस व्यक्ति से बात करे तो हमे बात - बात में उसका नाम लेते रहना चाहिए क्योंकि नाम लेने से नाम याद रखने में आसानी होगी और सामने वाले को भी लगेगा की वो कितना महत्त्व देता है, यदि व्यक्ति आपसे सीनियर है तो आपको नाम के साथ ज़रूरी प्रत्यय या उपसर्ग लगाना बहुत जरूरी है।

शब्दो का चयन ध्यान से करें: जब भी किसी से बात करें या कुछ डिसकस करें तो शब्दों का चयन ध्यान से करें ताकि कोई भी ऐसा शब्द आप प्रयोग करें जो दूसरे के सामने आपकी छवि को खराब कर दे। स्त्री हे या पुरुष इन सबको ध्यान में रख कर हे बात करें।

हमेशा सकारात्मक दृष्टिकोण रखें: हमेशा दुसरो से बात करते समय अपनी पॉजिटिव यानि की सकारात्मक सोच रखें जिस से सामने वाले व्यक्ति को अच्छा महसूस हो। और वो आपबातों से प्रभावित हो।


दुसरो की कमियां निकाले: कभी भी सामने वाले की कमियां निकाले बल्कि उसमे जो अच्छी बातें हैं उन पर ध्यान दें हमेशा पॉजिटिव रहे।

अपने आपको दुसरो से सुपीरियर माने: कभी भी अपने आपको दूसरों के सामने सुपीरियर दिखने की कोशिश करें अगर आप ऐसा करते हैं तो सामने वाला व्यक्ति आपको गलत समझेगा और आपकी बातों से सहमत नहीं होगा।


बोलने से पहले सुनिए: किसी से मिलने पर अपने आप ज्यादा बात करे सामने वाले की बात सुने। जब आप किसी की बात सुने तो पूरी ईमानदारी के साथ सुने जिससे सामने वाले को यह महसूस नही होना चाहिए कि आपको उसकी बात में रुचि नही है उसे पूरा लगना चाहिए कि आप ने उसकी बात पूरी ध्यान से सूनी है। फिर खुद खुद लोग आपको पसंद करने लगेंगे। आप अगर अच्छे listener है तो आपकी डिमांड अपने आप बढ़ जाएगी।

दुसरो की निस्वार्थ मदद करें: जब आप ऑफिस में काम करने जाते हैं तो एक दूसरे के साथ हमेशा सहयोग करें अगर किसी सहायक को आपकी सहायता की जरूरत हो तो निस्वार्थ होकर आप उसकी मदद करें ऐसा करने से आपकी प्रशंसा होगी। और आपका व्यक्तित्व दुसरो के सामने उभरेगा।

लगातार सुधार करें: अपने व्यक्तित्व का विकास करने का एक और महत्वपूर्ण नियम यह है की आप लगातार अपने मैं सुधार लाएं। ये कभी भी सोचें की आप की इम्प्रूवमेंट ख़तम हो चुकी है आप में सभी सुधार चुके हैं। आप जो भी करते उसे और सुधारने की कोशिश करते रहे। कभी भी ये सोचें की आप परफेक्ट हो चुके हैं।


इस प्रकार आप ऊपर दी गयी बातों को अगर अपने जीवन में अपनाएंगे तो अपने व्यक्तित्व का विकास कर पाएंगे। पर्सनालिटी डेवलपमेंट एक लगातार चलने वाली क्रिया है इसका कोई अंत नहीं हर व्यक्ति को अपने व्यक्तित्व के विकास के लिए जो भी संभव हो करना चाहिए। आज के आधुनिक युग मैं अगर आप तरक्की करना चाहते हैं तो आपको केवल अपने बाहृय व्यक्तित्व बल्कि आंतरिक व्यक्तित्व का भी विकास करना चाहिए। अपने बोलने का तरीका, रहन सहन, खाने का तरीका, उठना बैठना, ये सब बातें व्यक्ति के व्यक्तित्व के विकास का ही हिस्सा है।

Take a Look on Below Table

Government Jobs Private Jobs
Engineering Jobs 10th / 12th Pass Jobs
Employment News Rojgar Samachar
Railway Jobs in India Upcoming Sarkari Naukri
Upcoming Bank Jobs Graduate Degree Jobs
Exams Preparation Tips Personality Development Tips
English Improvement Tips Interview Preparation Tips

0 comments:

Post a comment