ग्राफिक्स कार्ड की पूरी जानकारी हिंदी मैं


ग्राफिक्स कार्ड की पूरी जानकारी

दोस्तों आज हम आपको बताने जा रहे है कि ग्राफिक्स कार्ड होता क्या है। तो चलिए अब हम अपने इस टाइटल की ओर बढ़ते है और आज के टॉपिक के बारे में जान
लेते है। ग्राफ़िक्स कार्ड के बारे में तो आप लोगो ने सुना ही होगा। आज के हमारे लेख का टॉपिक है ग्राफ़िक्स कार्ड की जानकारी, ग्राफ़िक्स कार्ड के टाइप्स और कैसे इस्तेमाल करे।

जी हाँ दोस्तों, सही समझा आप लोगो ने आज हम आप लोगो को ग्राफ़िक्स कार्ड के बारे में पूरी जानकारी विस्तार में देने वाले है। तो सोचना कैसा है, बस आप लोगो को इस लेख को अच्छी तरह से पढ़ना होगा और याद रखना होगा। हमे पूरी उम्मीद है की इस लेख को अगर आप लोग एक बार अगर अच्छी यारहा से पढ़ लेंगे तो आप लोगो को ग्राफ़िक्स कार्ड क्या है, इस बात की पूरी जानकारी हो जाएगी। तो बस आप लोग ज़रा भी समय मत गवांये ओर इस लेख को पूरा पढ़िए।


ग्राफिक कार्ड क्या है?
ग्राफिक कार्ड वो होता है जो किसी एक इमेज को कंप्यूटर स्क्रीन पर डिस्प्ले करता है। अगर ग्राफिक कार्ड अच्छे गुणवत्ता का हो तो वो एक इमेज की गुणवत्ता की गुणवत्ता में बहुत फर्क ला सकता है। तो आयी में आप जब भी कोई गेम खेल रहे हो या फिर आप कोई वीडियो देख रहे हो तो आपके कंप्यूटर में एक अच्छे ग्राफिक कार्ड का होना बहुत ज़रूरी है। वास्तव में ग्राफिक कार्ड आपके कंप्यूटर के मदरबोर्ड के साथ जुड़ा होता है। एक ग्राफिक कार्ड में एक प्रसंस्करण इकाई, एक मेमोरी, इसको ठंडा रखने के एक यंत्र और कुछ सम्बन्ध होते है, जिनकी मदद से हम इनको कंप्यूटर के साथ जोड़ सकते है।

ग्राफिक कार्ड का कार्य:
वैसे तो एक ग्राफिक कार्ड का कार्य बहुत ही पेचीदा होता है, लेकिन इस में प्रिंसिपल को समझना बहुत ही आसान होता है। आज के इस पोस्ट में हम आप लोगो को ग्राफिक कार्ड के इन्ही प्रिंसिपल के बारे में आप लोगो को समझने का प्रयास करेंगे। साथ ही आप लोगो को ये बताने की कोशिस करेंगे की ग्राफिक कार्ड की गति को कैसे बढ़ाया जा सकता है। अगर आप लोग ग्राफ़िक कार्ड के कार्य को विस्तार से समझना चाहते है तो उसके लिए आप लाग निचे के उदाहरण को पहले पढ़ ले और जानिए ग्राफिक कार्ड की जानकारी विस्तार में।

मान लीजिये आपका कंप्यूटर एक कंपनी है, और इस कंपनी में एक आर्ट डिपार्टमेंट है। तो अब जब भी कोई व्यक्ति आपके कंपनी में आर्ट से सम्बंधित काम के लिए आएगा तो वो आर्ट डिपार्टमेंट में ही जायेगा और उसी डिपार्टमेंट में वो अपने काम से जुडी जानकारी देगा। उसके बाद आर्ट डिपार्टमेंट से मिली हुई जानकारी के अनुसार ही कोई इमेज बनाएगा और पहले उसको एक पेपर पर ज़रूर उतर लेगा। और बाद में ही उसे पूरा करके वह एक शानदार और अच्छा दिखने वाला इमेज में परिवर्तित कर देगा। और इसी इमेज को देख कर काम देने वाला व्यक्ति खुश हो जायेगा।


ग्राफिक कार्ड की जानकारी में तो समझ लीजिये की आपका ग्राफिक कार्ड भी बिलकुल इसी तरह से काम करता है ग्राफिक कार्ड कंप्यूटर CPU सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन के साथ काम करता है। और इमेज से सम्बंधित सारी जानकारी को ग्राफिक कार्ड तक भेज देता है। तब ग्राफिक कार्ड ये फैसला करता है की स्क्रीन पर इमेज को दिखने के लिए कौन से और कितने पिक्सल का इस्तेमाल करता है। इसका निर्णय लेने के बाद ग्राफिक कार्ड सारी जानकारी को एक केबल के जरिये एक मॉनिटर तक भेज देता है।

मान लीजिये अगर एक 3D इमेज को बनाना है तो सबसे पहले ग्राफिक कार्ड एक फ्रेम को तैयार करता है, जो सीधी लाइन का बना होता है उसके बाद ग्राफिक कार्ड उस फ्रेम में पिक्सेल को भरता है और यही पर ग्राफिक कार्ड फ्रेम में रोशनी, कलर और इमेज की बनावट को भी भरता है। मान लीजिये अगर आप कोई ऐसा गेम खेल रहे हो जिसमे बहुत ज्यादा हल चल होती है तो आपके कंप्यूटर को इस प्रक्रिया से कम से कम हर सेकंड में 60 बार गुजरना पड़ता है आयी में अगर आपके कंप्यूटर में ग्राफिक कार्ड नहीं है तो ना तो आपका कंप्यूटर उस गेम की ज़रूरी गणना कर पायेगा और ना ही गेम के काम का बोझ उठा पायेगा ग्राफिक कार्ड को अपना काम करने के लिए कुछ ज़रूरी चीज़ो की ज़रुरत होती है, जो निचे दी गयी है।

1. एक मदरबोर्ड, ताकि ये कंप्यूटर के डाटा और पावर के साथ जुड़ सके।
2. एक प्रोसेसर, ताकि इसको ये जानकारी मिल सके की हर इमेज में पिक्सेल के साथ क्या काम करना है।
3. एक मेमोरी, ताकि अपनी सारी जानकारी उस में रख सके साथं साथ जब ये पिक्चर को पूरा कर ले तो उसे भी सुरक्षित रख सके।
4. एक मॉनिटर, ताकि ये अपने द्वारा बनाये गए इमेज को दिखा सके।


ग्राफिक कार्ड के साथ जुडी कुछ नयी जानकारिया:
ग्राफिक कार्ड को CPU (ग्राफिक प्रसंस्करण इकाई) और वीडियो कार भी कहा जाता है।
अगर आप कोई अच्छी गुणवत्ता वाली गेम खेल रहे हो तो आपको ग्राफिक कार्ड की ज़रूरत पड़ेगी।
एक ग्राफिक कार्ड के पास अपनी खुद की मेमोरी और प्रसंस्करण इकाई होती है, इसलिए इसको एक तरह का CPU भी मन जाता है जो सिर्फ अपना काम अपने हिसाब से करता है।
ग्राफिक कार्ड की मेमोरी कंप्यूटर RAM के जैसे होती है, साथ ही एक ग्राफिक कार्ड को भी कंप्यूटर के मदरबोर्ड  में एक स्लॉट के साथ जोड़ा जाता है, जैसे की (त्वरित ग्राफिक कार्ड) और PCIE (परिधीय घटक इंटरकनेक्ट एक्सप्रेस कनेक्शन)
एक ग्राफिक कार्ड जब ज्यादा काम करता है तो ज्यादा गर्मी निकालता है। तो ऐसे में एक ग्राफिक कार्ड के लिए हिट सिंक की ज़रुरत पड़ती है।
ग्राफिक कार्ड में 2 प्रोसेसर का इस्तेमाल होता है, पहले ये -FSAA (पूर्ण दृश्य एंटी एलियासिंग) इसका इस्तेमाल 3D इमेज के लिए किया जाता है। और दूसरा है - AF (एनिस्ट्रोपिक फिल्टरिंग) ये इमेज को और ज्यादा निखार देता है।

Take a Look on Below Table

Government Jobs Private Jobs
Engineering Jobs 10th / 12th Pass Jobs
Employment News Rojgar Samachar
Railway Jobs in India Upcoming Sarkari Naukri
Upcoming Bank Jobs Graduate Degree Jobs
Written Exam Preparation Tips Career Management Tips
English Improvement Tips Interview Preparation Tips

0 comments:

Post a Comment