जानिए कैसे करे पेन ड्राइव को बूटेबल


जानिए कैसे करे पेन ड्राइव को बूटेबल

आज का जमाना कंप्यूटर का है तो हर कोई अपने सिस्टम में विंडोज को इनस्टॉल करना चाहता है, पर उसके लिए आपको जरुरत पड़ती है किसी सीडी या डीवीडी
की पर सीडी या डीवीडी का उपयोग बहुत पुराना जमाने की बात है। क्योकि अगर सीडी खराब हो जाये तो उसे विंडोज को इनस्टॉल हर कोई नहीं कर सकता। इससे बचने और काम को आसान बनाने के लिए आपको जरुरत पड़ेगी बूटेबल पेन ड्राइव की, जिससे विंडोज को आसानी से इनस्टॉल किआ जा सकता है। चलिए जानते है कुछ क्यों सीडी या डीवीडी की जगह बूटेबल पेन ड्राइव को इस्तेमाल करना चाहिए और पेन ड्राइव को बूटेबल कैसे करे।
1. सीडी का प्रदर्शन पेन ड्राइव से बहुत काम होती है।
2. सीडी जल्दी से खराब हो जाती है पर पेन ड्राइव इस्तेमाल करने पर इसे काम किया जा सकता है।
3. पेन ड्राइव का साइज सीडी से बहुत छोटा होता है जिससे आसानी से पर्स या पॉकेट में रखा जा सकता है।


तो चलिए जानते है पेन ड्राइव को बूटेबल बनाने के लिए हमे क्या करना होगा।

सबसे पहले हमे जरुरत होगी एक पेन ड्राइव की। अगर आपके सिस्टम में विंडोज 7, 8 या इससे ऊपर के वर्जन्स इनस्टॉल है तो आपको 4gb पेन ड्राइव की जरुरत पड़ेगी। विंडोज XP के लिए 2gb की पेन ड्राइव काफी है।

वैसे तो पेन ड्राइव को बूटेबल बनाने के बहुत से तरीके है पर सबसे आसान तरीका है सिस्टम के कमांड प्रांप्ट से पेन ड्राइव को बूटेबल बनाना। इसके लिए आपको किसी भी सॉफ्टवेयर की जरुरत नहीं पड़ेगी ओर ना ही इसके लिए आपको किसी को पैसे देने पड़ेगे। आप कमांड प्रांप्ट से बड़ी जल्दी ओर आसानी से पेन ड्राइव को बूटेबल बना सकते है।

कमांड प्रांप्ट से पेन ड्राइव को बूटेबल बनाना

कमांड से पेन ड्राइव को बूटेबल बनाने के सबसे पहले आपको कमांड प्रांप्ट को खोलना होगा, इसके लिए आगे के स्टेप्स का पालन करे।

1. सबसे पहले अपने सिस्टम से कमांड प्रांप्ट खोलने के लिए आपको अपने कीबोर्ड से विंडोज logo+R बटन्स एक साथ दबाने होंगे। बटन दबाते ही आपके सामने एक विंडोज खोल जाएगी। इस विंडोज को रन कमांड कहते है।
2. रन कमांड विंडोज के टाइपिंग बार में आप cmd टाइप कर दे ओर एंटर दर्ज करे एंटर करते ही आपका  कमांड प्रांप्ट खोल जायेंगे।

3. इसके बाद अगर आपको विंडोज 7 या उससे ऊपर के वर्जन के लिए पेन ड्राइव को बूटेबल बनाना है तो कम से कम 4gb स्पेस की पेन ड्राइव अपने सिस्टम में इन्सर्ट करे ओर अगर विंडोज xp के लिए  2gb की पेन ड्राइव काफी है। पेन ड्राइव इन्सर्ट होते ही इसका पता आपको नोटिफिकेशन पन्नेल से चल जायेगा।

4. पेन ड्राइव के बाद अपने कमांड प्रांप्ट में "डिस्कपार्ट" टाइप करके एंटर कर दे। डिस्कपार्ट लिख के जैसे ही आप एंटर करोगे आपके सामने एक नया कमांड प्रांप्ट खुल कर आएगा, इसे डिस्कपार्ट कमांड कहते है।


5. डिस्कपार्ट कमांड प्रांप्ट खुलने के बाद आपको इस नए प्रांप्ट से "लिस्ट डिस्क" लिख कर एंटर कर दे। एंटर के बाद आपके सामने एक नयी लिस्ट खोल जाएगी। जिसमे आपके सिस्टम के सारे मेमोरी विभाजन जायेंगे। ये विभाजन आपके सिस्टम में बने सभी मेमोरी विभाजन की लिस्ट है। इसी लिस्ट में आपको अपनी पेन ड्राइव का विकल्प भी नजर आएगा। जो आपने अपने सिस्टम सिस्टम में लगाया है। इस बात का ध्यान रखे ये लिस्ट आपकी मैन ड्राइव को नहीं दिखायेगा बस जो विभाजन उनमे बने है वही लिस्ट में आएंगे।

उदाहरण के लिए: आपको लिस्ट कुछ ऐसे मिलेगी डिस्क 1,डिस्क 2,  डिस्क 3, ......
इन्ही किसी डिस्क नंबर पर आपको अपनी पेन ड्राइव का डिस्क नंबर नजर आएगा, कमांड प्रांप्ट से उस डिस्क नंबर को चुनिए।

जैसे आपकी पेन ड्राइव की डिस्क का नंबर 4 है तो कमांड में जाके "सेलेक्ट डिस्क नंबर (1, 2, 3, 4....)" इसमें वही नंबर चुनिए जैसे हमारा नंबर 4 था तो हम एंटर करेंगे "सेलेक्ट डिस्क नंबर (4)", इसके बाद एंटर कर दीजिये।

6. ऊपर के स्टेप का पालन करने के बाद आपको निचे दी गयी कमांड्स को एक एक करके निष्पादित
करना होगा।
सबसे पहले अपने कमांड प्रांप्ट से "क्लीन" टाइप करके एंटर करे। एंटर करते ही आपकी कमांड अगर सफलतापूर्वक चली जाये तो अगला कोड एंटर करे।

क्लीन कमांड के चल जाने के बाद अपने सिस्टम से प्रांप्ट से "क्रिएट पार्टीशन प्राइमरी" टाइप करे ओर एंटर करे। पार्टीशन सफलतापूर्वक क्रिएट होने के बाद अगला कमांड चलाये।
अब आपका पार्टीशन क्रिएट हो चूका है, इसके बाद "सेलेक्ट पार्टीशन नंबर (1, 2, 3, 4......)" इनमे से जो भी आपकी पेन ड्राइव का नंबर है उसे चुने।
इसके बाद अपने कमांड प्रांप्ट से "फॉर्मेट fs=ntfs क्विक" लिख कर के एंटर करे।

ऊपर की कमांड चले जाने के बाद अपने कमांड प्रांप्ट से "assign" लिख के एंटर दबाये।
इसके बाद "बाहर" कमांड लिख के एंटर दबाये।
इन सभी कमांड के चल जाने के बाद आपका पेन ड्राइव बूटेबल होना शुरू हो जायेगा। इस प्रक्रिया में थोड़ा समय लग सकता है कृपया थोड़ा इंतजार करे। अब आपकी बूटेबल पेन ड्राइव तैयार है इस्तेमाल में लाने के लिए।


अगर आपकी पेन ड्राइव अच्छी गुणवत्ता की है तो इसका प्रदर्शन काफी अच्छा होगा। ओर इसे इस्तेमाल कैसे करते है चलिए जानते है। अधिकतर इसका इस्तेमाल सिस्टम को फॉर्मेट करने या विंडोज को चेंज करने के लिए किया जाता है। अगर आपके सिस्टम में वायरस गया है तो आप अपने सिस्टम की सारी फाइल इसमें आराम से कॉपी कर सकते है इससे ना तो आपकी फाइल भ्रष्ट होगी ओर ही आपका सिस्टम डेमेज होगा आप आसानी से बूटेबल पेन ड्राइव की सहायता से अपने सिस्टम को रिकवर कर सकता है। क्योकि देखा गया है अगर हम सीडी या डीवीडी का इस्तेमाल करते है उसमे सिस्टम की कुछ जरूरी फाइल का निकसान हो जाता है ओर जब हम इसे अपने सिस्टम को रिकवर करते है तो कुछ समय बाद ठीक से काम नहीं कर पाता ओर हमारा सिस्टम असफल हो जाता जिसे कभी कभी काफी निकसान भी फेस करना पड़ता है।

वैसे भी आज कल हर कोई अपने सिस्टम में विंडोज की हर नयी अपडेट को इनस्टॉल करना चाहता है। इसके लिए आपको कुछ नहीं करना बस ऊपर दिए गए सभी स्टेप का पालन कीजिये। ओर अपनी पेन ड्राइव को सबसे पहले बूटेबल बना लीजिये। इसके बाद अपने सिस्टम की विंडोज की कॉपी इसमें सेव कर दे ओर जिस भी सिस्टम में आपको नयी विंडोज इनस्टॉल करनी है आसानी से इस पेन ड्राइव के माध्यम से कर सकते है। इसकी सबसे बड़ी महत्त्व ये है की ये ना तो जल्दी से भ्रष्ट होते है ओर ना ही खराब। आप अपनी विंडोज की एक कॉपी हमेशा अपने साथ रख सकते है, क्योकि ये साइज में भी बहुत छोटी होती है।


पेन ड्राइव मार्किट में आसानी से उपलब्ध हो जाती है तो अपने खुद के सिस्टम से आप कमांड प्रांप्ट का इस्तेमाल करके कुछ ही समय में आसानी से अपनी पेन ड्राइव को बूटेबल बना सकते है।

Take a Look on Below Table

Government Jobs Private Jobs
Engineering Jobs 10th / 12th Pass Jobs
Employment News Rojgar Samachar
Railway Jobs in India Upcoming Sarkari Naukri
Upcoming Bank Jobs Graduate Degree Jobs
Written Exam Preparation Tips Career Management Tips
English Improvement Tips Interview Preparation Tips

0 comments:

Post a Comment